जापान के तीन दिवसीय दौरे में ओसाका पहुंचे पीएम मोदी

33

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी-20 समिट में हिस्सा लेने के लिए जापान के ओसाका पहुंचे। गए हैं। जी-20 समिट में हिस्सा लेने जापान पहुंचे पीएम मोदी का ओसाका एयरपोर्ट पर जोरदार स्वागत हुआ। पीएम मोदी ने ओसाका पहुंचने के बाद यहां स्विसोतेल नानकाई होटल में भारतीय समुदाय के लोगों से मुलाकात की, इस दौरान लोगों ने मोदी-मोदी और भारत माता की जय के नारे लगाए। पीएम मोदी ने इस दौरान वहां खड़े बच्चों से भी बात की। पीएम मोदी जापान के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। पीएम मोदी 28-29 जून को जी-20 शिखर सम्‍मेलन में हिस्सा लेंगे, जिसमें अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन भी हिस्‍सा लेने वाले हैं।
पीएम मोदी ने कहा कि इस शिखर सम्‍मेलन के माध्‍यम से हमें एक उन्‍नत बहुलवाद को दोहराने और मजबूत समर्थन देने का एक महत्‍वपूर्ण अवसर मिलेगा, जो आज के तेजी से बदलते विश्‍व में नियम आधारित अंतर्राष्‍ट्रीय प्रणाली के संरक्षण के लिए महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि यह शिखर सम्‍मेलन भारत के पिछले पांच वर्षों में किए गए जोरदार विकास के अनुभव को साझा करने के लिए भी एक मंच होगा, जिसके परिणामस्‍वरूप, प्रगति और स्थिरता के मार्ग पर निरंतरता के लिए भारत की जनता द्वारा हमारी सरकार के लिए प्रचंड बहुमत का आधार तैयार हुआ।
पीएम मोदी ने बताया कि भारत 2022 में जी-20 शिखर सम्‍मेलन की मेजबानी करेगा और इस नाते ओसाका शिखर सम्‍मेलन एक महत्‍वपूर्ण छाप छोड़ेगा, जब हम नई दिल्‍ली में अपनी स्‍वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ मना रहे होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे इस शिखर सम्‍मेलन के साथ-साथ अपने प्रमुख साझेदार देशों के नेताओं के साथ अनेक द्विपक्षीय और विश्‍व के लिए महत्‍वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

जापान रवानगी से पहले पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद जैसी चुनौतियों के समाधान के लिए सामूहिक प्रयास के मुद्दे उनके एजेंडे में शीर्ष पर रहेंगे। उन्‍होंने यह भी कहा कि जी 20 का ये 14वां शिखर सम्‍मेलन पिछले पांच वर्षों में भारत के विकास के अनुभव को साझा करने का अंतरराष्‍ट्रीय मंच भी होगा और साथ ही 2022 में होने वाले जी 20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी को ध्‍यान में रखते हुए भारत के लिए एक महत्वपूर्ण कदम भी होगा, जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएगा और इस अवसर पर एक नए भारत के निर्माण की शुरुआत होगी।