चार्ट बनने के बाद ट्रेन में सीट खाली रहने पर किराये में मिलेगी 10 प्रतिशत की छूट

0
320

रेलवे यात्रियों की संख्या बढ़ाने और यात्रियों को सुविधाएं देने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। रेल राज्यमंत्री राजेन गोहेन ने लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में कहा कि कम यात्री वाली ट्रेनों में पहला आरक्षण चार्ट तैयार होने पर खाली रहने वाली सीट या बर्थ के लिए रेलवे प्रशासन रेल किराए में 10 फीसदी की छूट दे रहा है। यह छूट मूल किराये में दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि रेल गाड़ियों में सीजन के अनुसार मांग कम या ज्यादा होती है। यहां तक कि हर सीजन देश के सभी भागों में मांग एक समान नहीं होती है। उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2017-18 में भारतीय रेल की सभी आरक्षित ट्रेनों में कुल मिलाकर सीटें-बर्थ शतप्रतिशत भरी हुई थीं। उन्होंने कहा कि कम यात्रा वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी करने के लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा सरकार ट्रेन की सेवा में गति लाने और परिचालन की अवधि घटाने के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि खाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए शयनयान श्रेणी के कोच को अनारक्षित द्वितीय श्रेणी या अनारक्षित शयनयान बनाने की घोषणा की गई है।