भारतीय सेना को सौंपी गई जबलपुर में निर्मित धनुष तोपें

0
57

सोमवार को नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में भारतीय सेना को देश में बनी धनुष तोप सौंपी गई। 155/45 कैलिबर गन प्रणाली से युक्त धनुष तोप सेना की मारक क्षमता में वृद्धि करेगी। धनुष तोप की गन प्रणाली 1980 में प्राप्त बोफोर्स पर आधारित है। धनुष तोप को बोफोर्स की तर्ज पर जबलपुर स्थित गन कैरिज फैक्ट्री में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है। सेना ने 110 से अधिक धनुष तोपों का ऑर्डर दिया है। देश में निर्मित होने वाली लंबी रेंज की यह पहली तोप है। धनुष तोप के बैरल का वजन 2692 किलो है और इसकी लंबाई आठ मीटर है। धनुष तोप की मारक क्षमता 42-45 किलोमीटर तक है। धनुष तोप लगातार दो घंटे तक फायर करने में सक्षम है और यह प्रति मिनट दो फायर करती है। इसमें 46.5 किलो का गोला प्रयोग किया जाता है।