Saturday, May 25, 2019
Home Tags आईना शाण्डिल्य

Tag: आईना शाण्डिल्य

देख प्रिय! मधुमास आया- आईना शाण्डिल्य

देख प्रिय! मधुमास आया फिर वही रस-रास लाया सद्यःस्नाता यौवना की चूनरी में बास लाया देख प्रिय! मधुमास आया सांवरी सी एक बाला पी चली यौवन की हाला देख दर्पण मुख...

आज तेरा प्यार रोया- आईना शाण्डिल्य

आज तेरा प्यार रोया। क्यों कहा आने को तुमने, जब तुम्हें आना नहीं था। एक पल में जुग बिताया, (तुम) हो निष्ठुर, जाना नहीं था।। रात रोई, दिन भी...

नील गगन के पार क्षितिज पर- आईना शाण्डिल्य

तू मेरा संबल बन जाए, मैं तेरा संबल बन जाऊं तू मेरा आकाश सुनहरा, मैं तेरा आँचल बन जाऊँ नील गगन के पार क्षितिज पर, होगी अपने प्यार की...

सिन्दूरीवर्णी रंजित सूरज के- आईना शाण्डिल्य

अंतर्मन में अंकित, गह्वर स्मृतियों सा कल्पित-पात्र कोई हो तुम, बस दूर खड़ी ये सोचूँ, तुम में खो कर, तुम सी हो कर मुक्तिबोध को पावन कर दूँ,...

तेरी मेरी प्रीत कोे- आईना शाण्डिल्य

पावों में बिछुवे सी, जेठ मदिर, महुवे सी, चन्दनिया अँगना बुहारे, तेरी मेरी प्रीत कोे रात चले घुँघरू सी, महक उठे अगरू की, हिया बीच दिया बारे, तेरी मेरी प्रीत को कोहबर...

तुम आँखों का पानी लिखना- आईना शाण्डिल्य

मैं भी एक फ़साना लिख दूँ, तुम भी एक कहानी लिखना। मैं आँखों के आँसू लिख दूँ, तुम आँखों का पानी लिखना।। सोंधी-सोंधी माटी महके, यादों के जब पानी...

Recent Posts