Wednesday, June 26, 2019
Home Tags कहानी

Tag: कहानी

बदलते रिश्ते- गौतम जैन

क्यों बरखुरदार क्या चल रहा है ये सब......?कब से चल रहा है.......?? क्या द..द्..दू... कुछ भी तो नहीं......। दादा जी की अचानक हुई सवालों की...

द्वंद- किरण बरनवाल

बड़ी-बड़ी आँखे, दूर तक मौन पसरी हुई महसूस हो रही थी, बिखेरे बिखरे छितराए केश, गहरे लाल रंग की साड़ी, माँग से मस्तक तक...

दे लव यू- सूरज राय सूरज

साहब अपने ये मोबाइल वापस ले लीजिए, ये हमें नहीं चाहिए। आंखों में आंसू लिए एक बुज़ुर्ग दंपत्ति ने अपने दो मोबाइल निकालकर कंपनी के...

केक- श्वेता सिन्हा

आज केक आयेगा... आज केक आयेगा... केक आयेगा न पापा? मेरे चेहरे पर मासूम आँखें टिकाकर तनु ने पूछा। मैंने मुस्कुराकर हामी भरी तो उसकी आँखों में...

Recent Posts