Wednesday, August 21, 2019
Home Tags पूनम प्रकाश

Tag: पूनम प्रकाश

ज़िंदगी उलझी-उलझी- पूनम प्रकाश

क्या वाइज़ और क्या दीवाने रूठ गए। जो भी आए थे समझाने रूठ गए। शिद्दत मेरी प्यास की देखी ही थी और दुनिया के सारे मैखाने रूठ...

देख तेरे सारे अफ़साने रूठ गए- पूनम प्रकाश

क्या वाइज़ और क्या दीवाने रूठ गए। जो भी आए थे समझाने रूठ गए। शिद्दत मेरी प्यास की देखी ही थी और दुनिया के सारे मैखाने रूठ...

दिल की कभी सुनी जाए- पूनम प्रकाश

काश सब की दुआ सुनी जाए खाली झोली नहीं कोई जाए क्या ज़रूरी है दर्द की दौलत, बारहा मेरे नाम की जाए हाए जाने ये इन अँधेरों की, कब...

इक जंग सी छिड़ी हुई है- पूनम प्रकाश

क्यों ज़रूरी है ज़ुल्फ़ों का रेशमी होना, रंग उजला और काया छरहरी होना? क्यों दहल जाती है माँ, बिटिया की सांवली रंगत देख, और जुट जाती है 'मिशन गोरा' पर? बेसन,...

चलो खाओ कसम तुम आज हमको भूल जाने की- पूनम प्रकाश

नहीं करती हूँ क़ोशिश मैं किसी को भी हराने की तमन्ना है अजीज़ों के दिलों को जीत जाने की मुझे मालूम है तुम सारी कसमें भूल...

Recent Posts