Monday, May 27, 2019
Home Tags बसंतपंचमी

Tag: बसंतपंचमी

बसंत- श्वेता राय

आसमान बरसा रहा है प्रेम खिलखिला रही है दूब खोल पट मिट्टी का सुनो! मेरे रूठे प्रेमी! तुम भी बढ़ाओ तपिश अपने प्रेम की कि शिशिर से सुसुप्त पड़ा हमारा साथ बौरा...

माँ सरस्वती का प्राकट्य दिवस बसंत पंचमी, शुभ मुहूर्त में करें...

सनातन धर्म में बसंत पंचमी का विशेष महत्व है, ऐसा कहा जाता है कि बसंत पंचमी के आते ही ऋतु परिवर्तन होने लगता है।...

वागीश्वरी रागेश्वरी सिद्धेश्वरी मृगलोचनी- श्वेता राय

वागीश्वरी रागेश्वरी सिद्धेश्वरी मृगलोचनी| आ कंठ में मेरे बसो हे मात वीणा धारिणी|| तुम ज्ञान हो व्यवहार हो तुम हो ऋचा इक पावनी| तुम से सकल ये...

Recent Posts